महाबली हनुमान हिन्दू देवी देवताओ में सबसे बलशाली देवताओ में से एक है । हनुमान

ऐसा माना जाता है की हनुमानजी भगवान् श्री शिव शंकर के रूद्र अवतार है । वो राम के परम भक्त और उनकी भक्ति में रहने के लिए धरती पर अवतरित हुए है । इन्हे संकट मोचक के नाम से भी पुकारा जाता है क्योकि ये अपने परम भक्तो को हर संकट से उबार लेते है ।
रामायण महाकाव्य में महर्षि वाल्मीकि ने राम चन्द्र और हनुमान के कार्यो को बहूत ही सुन्दर तरीके से पिरोहा है . रामायण के पान से यह पता चलता की हनुमान अपनी निस्वार्थ भक्ति से राम के मन मंदिर में बसे हुए है . राम जी के लिए उन्होंने असंभव कार्य भी सिद्ध कर दिया है । ऐसे राम भक्त को हम कोटि कोटि प्रणाम करते है ।

Sankatmochan Hanumanastsk Path

बाल समय रबि भक्षि लियो तब तीनहुँ लोक भयो अँधियारो। ताहि सों त्रास भयो जग को यह संकट काहु सों जात न टारो। देवन आनि करी बिनती तब छाँड़ि दियो रबि कष्ट निवारो। को नहिं जानत है जग में कपि संकटमोचन नाम तिहारो॥१॥ बालि की त्रास कपीस बसै गिरि जात…

Continue Reading Sankatmochan Hanumanastsk Path

End of content

No more pages to load