गुरुसेवा से मिलता परम अमृत-संत एकनाथ षष्ठी

गुरुसेवा से मिलता परम अमृत (संत एकनाथ षष्ठीः २९ मार्च २०१६ ) एकनाथ जी गुरुसेवा से अपने को धन्यभाग समझते थे। जो भक्त नहीं है उन्हें सेवा में बड़ा कष्ट मालूम हो सकता है, पर एकनाथ जैसे गुरुभक्त के लिए वही सेवा परमामृतदायिनी होने से उसी को उन्होंने अपना महद्…

Continue Reading गुरुसेवा से मिलता परम अमृत-संत एकनाथ षष्ठी

Sant Eknath Maharaj Shashti

  Eknath Sashti is observed on the sixth day (Shasti) of the Krishna Paksha (waning phase of moon) of Phalgun month as per traditional lunar Marathi calendar. On this day, he is believed to have performed Jalsamadhi in the sacred Godavari River and left his body and merged with the…

Continue Reading Sant Eknath Maharaj Shashti

End of content

No more pages to load