श्री गणेश अष्टोत्तर शतनामावलि

श्री गणेश अष्टोत्तर शतनामावलि १] ॐ गजाननाय नमः। २] ॐ गणाध्यक्षाय नमः। ३] ॐ विघ्नाराजाय नमः। ४] ॐ विनायकाय नमः। ५] ॐ द्वैमातुराय नमः। ६] ॐ द्विमुखाय नमः। ७] ॐ प्रमुखाय नमः। ८] ॐ सुमुखाय नमः। ९] ॐ कृतिनॆ नमः। १०] ॐ सुप्रदीपाय नमः। ११] ॐ सुखनिधयॆ नमः। १२] ॐ…

Continue Reading श्री गणेश अष्टोत्तर शतनामावलि

स्यमन्तक मणि कथा

श्रीमदभागवत १० वाँ स्कंद ५६-५७ वाँ अध्याय  में ये कथा आती है | श्री शुकदेव जी कहते हैं- परीक्षित ! सत्राजित ने श्रीकृष्ण को झूठा कलंक लगाया था। फिर उस अपराध का मार्जन करने के लिए उसने स्वयं स्यमन्तक मणि सहित अपनी कन्या सत्याभामा भगवान श्रीकृष्ण को सौंप दी। राजा…

Continue Reading स्यमन्तक मणि कथा

गणेश चतुर्थी को चन्द्रदर्शन हो जाये तो ….

इस वर्ष चतुर्थी लगातार दो दिन रहेगी। 4 सितम्बर को चंद्रोदय के साथ ही चंद्र दर्शन नहीं करने हैं। अगले दिन 5 सितम्बर को भी चंद्रोदय के बाद रात्रि 9.09 बजे बाद तक भी चंद्रास्त होने तक चतुर्थी रहेगी और उनके दर्शन नहीं करने चाहिये। अर्थात् 4 सितम्बर को सायं…

Continue Reading गणेश चतुर्थी को चन्द्रदर्शन हो जाये तो ….

श्री गणेश – कलंक चतुर्थी – ५ सितम्बर

एक बार गणपतिजी अपने मौजिले स्वभाव से आ रहे थे | वह दिन था चौथ का | चंद्रमा ने उन्हें देखा | चंद्र को अपने रूप,लावण्य, सौंदर्य का अहंकार था | उसने गणपतिजी की मजाक उड़ाते हुये कहा : “ क्या रूप बनाया है | लंबा पेट है, हाथी का…

Continue Reading श्री गणेश – कलंक चतुर्थी – ५ सितम्बर

End of content

No more pages to load